प्राचीनकाल की महत्वपूर्ण पुस्तकें और उनके रचियता- Ancient Books of India

जिस धर्म के लोग खुद ही अपने धर्म का हर तरीके से चीरहरण करते हों, उस धर्म का समाप्त होना निश्चित है उसे हम चाहकर भी नही बचा सकते। आज हम आपको बताने जा रहे है प्राचीन काल की महत्वपूर्ण पुस्तके जिनमे था आलोकिक ज्ञान और आधुनिक विज्ञानं से परे का ज्ञान।



इनमे से कुछ पुस्तके मुस्लिम आक्रांताओ ने जला दी थी। जैसा की हमेशा से ही सनातन और हिन्दू धर्म को बर्बाद करने की कोशिशे लगातार सदियों से की जा रही है और यह अजेंडा आज भी जोरों सोरों पर है। इस बारे में ज्यादा बात किसी दूसरी पोस्ट पर करेंगे पर आप निचे दिए हुए "Ancient Books of India" को जरूर जानिये और कोशिश कीजिये यह पता करने की,कि किस किताब में कोनसा ज्ञान है।

 प्राचीनकाल की महत्वपूर्ण पुस्तकें

किताबों के सामने उनके रचियता का नाम भी उल्लेख किआ गया है। यह वह महत्वपूर्ण किताबे है जिनके बारे में कम से कम सभी भारतीयों को पता होना चाहिए। 

1-अष्टाध्यायी               पाणिनी
2-रामायण                    वाल्मीकि
3-महाभारत                  वेदव्यास
4-अर्थशास्त्र                  चाणक्य
5-महाभाष्य                  पतंजलि
6-सत्सहसारिका सूत्र      नागार्जुन
7-बुद्धचरित                  अश्वघोष
8-सौंदरानन्द                 अश्वघोष
9-महाविभाषाशास्त्र        वसुमित्र
10- स्वप्नवासवदत्ता        भास
11-कामसूत्र                  वात्स्यायन
12-कुमारसंभवम्           कालिदास
13-अभिज्ञानशकुंतलम्    कालिदास
14-विक्रमोउर्वशियां        कालिदास
15-मेघदूत                    कालिदास
16-रघुवंशम्                  कालिदास
17-मालविकाग्निमित्रम्   कालिदास
18-नाट्यशास्त्र              भरतमुनि
19-देवीचंद्रगुप्तम          विशाखदत्त
20-मृच्छकटिकम्          शूद्रक
21-सूर्य सिद्धान्त           आर्यभट्ट
22-वृहतसिंता               बरामिहिर
23-पंचतंत्र।                  विष्णु शर्मा
24-कथासरित्सागर        सोमदेव
25-अभिधम्मकोश         वसुबन्धु
26-मुद्राराक्षस               विशाखदत्त
27-रावणवध।              भटिट
28-किरातार्जुनीयम्       भारवि
29-दशकुमारचरितम्     दंडी
30-हर्षचरित                वाणभट्ट
31-कादंबरी                वाणभट्ट
32-वासवदत्ता             सुबंधु
33-नागानंद                हर्षवधन
34-रत्नावली               हर्षवर्धन
35-प्रियदर्शिका            हर्षवर्धन
36-मालतीमाधव         भवभूति
37-पृथ्वीराज विजय     जयानक
38-कर्पूरमंजरी            राजशेखर
39-काव्यमीमांसा         राजशेखर
40-नवसहसांक चरित   पदम् गुप्त
41-शब्दानुशासन         राजभोज
42-वृहतकथामंजरी      क्षेमेन्द्र
43-नैषधचरितम           श्रीहर्ष
44-विक्रमांकदेवचरित   बिल्हण
45-कुमारपालचरित      हेमचन्द्र
46-गीतगोविन्द            जयदेव
47-पृथ्वीराजरासो         चंदरवरदाई
48-राजतरंगिणी           कल्हण
49-रासमाला               सोमेश्वर
50-शिशुपाल वध          माघ
51-गौडवाहो                वाकपति
52-रामचरित                सन्धयाकरनंदी
53-द्वयाश्रय काव्य         हेमचन्द्र

Post a comment

0 Comments